मार्केट स्टाइल मिल्क पेड़ा बनाने की रेसीपी: Milk Peda Recipe in Hindi

दोस्तो आज के इस लेख में आपको Milk Peda Recipe in Hindi बनाने को बताऊंगा। जिससे आप आसानी से अपने घर पर मार्केट स्टाइल वा बहुत ही कम सामग्री से मिल्क पेड़ा बना सकते है भारत की सबसे प्राचीन मिठाइयों में से एक है। जिसे भारत में हर तरह के त्योहारों व उत्सव में खास तौर पर बनाया जाता है। भारतीय संस्कृति में किसी उपवास पूजा वा व्रत के समय में इसका ज्यादातर उपयोग किया जाता हैं। कुछ विशेष पूजा में इसका विशेष महत्व रहता है जिसके बिना यह पूजा सफल नहीं मानी जाती है। यदि आपको जब भी कुछ मीठा खाने का मन करे तो आप अपने घर पर Milk Peda (Milk Peda Recipe in Hindi) बनाकर ट्राई जरूर करें। मिल्क पेड़ा एक स्वादिष्ट रेसिपी है और इसे बहुत ही कम समय में बनाकर तैयार कर सकते है। 

Milk Peda Recipe in Hindi

दोस्तो इस लेख में मिल्क पेड़ा बनाने के लिए हर स्टेप विस्तार रूप से बताया है। तो चलिए बिना देरी किए हुए सुरु करते हैं। इस स्वादिष्ट मिल्क पेड़ा (Milk Peda Recipe in Hindi) रेसिपी को।

तैयारियों का समय = 05 मिनट

पकाने का समय = 15 मिनट

कुल समय = 20 मिनट

कितने पेड़े = 12 से 15

मिल्क पेड़ा बनाने की सामाग्री: (Peda Recipe in Hindi):

सामाग्री
2 कप मिल्क पाउडर 
1/2 कप पिसी हुई चीनी
1/2 कप दूध 
2 + 1 टेबलस्पून घी
इलायची पाउडर स्वादानुसार
सिल्वर वर्क (silver vark)।                                         
1 बड़ा चम्मच पिस्ता
12 से 15 केसर के धागे


मिल्क पेड़ा बनाने की विधि: (Milk Powder Peda Recipe in Hindi):

1.मिल्क पेडा बनाने के लिए सबसे पहले एक बाउल मे 2 कप मिल्क पाउडर, 1/2 कप पीसी हुई सकर लेंगे और उसमे 1/2 कप दूध डालकर अच्छे से मिक्स कर लेंगे। अगर मिक्सर ज्यादा गाढ़ा लगे तो आवश्कता अनुसार थोड़ा दूध और डालकर मिक्स कर लेंगे और एक स्मूथ वा क्रीमी मिक्सर तैयार कर लेंगे।

2.अब एक पैन लेंगे और उसमे 2 टेबल स्पून घी डालकर गर्म करेंगे। घी गर्म होने के बाद इसमें मिल्क पाउडर का मिक्सर डाल देंगे और इसे लो फ्लेम पर 10 से 11 मिनट तक चलाते हुए पकाएंगे।

3.अब मिक्चर जब थोड़ा गाढ़ा होने लगे तब इसमें इलायची पाउडर स्वादानुसार और 1 टिस्पून घी डालकर इसे 3 से 4 मिनट चलाते हुए पकाएंगे।

4.अब इसे पकाने के बाद गैस को बंद कर देंगे और इसे एक बटर पेपर में निकाल लेंगे। अब इसे 5 से 6 मिनट के लिए फ्रिज में रख देंगे। ध्यान रहे मिक्सर को उतना ही ठंडा करे जितने मे हम इसे आसानी से पेड़े का आकार दे सके।

5.अब मिक्सर ठंडा होने के बाद इसे एक बाउल मे ट्रांसफर कर लेंगे और अपने हाथो में थोड़ा घी लगाकर हाथो को चिकना कर लेंगे। 

6.अब मिश्रण का एक छोटा हिस्सा अपने हाथो में लेंगे और उससे एक पेड़ा तैयार करेंगे और अगूंठे की मदद से बीच में थोड़ा दबा देंगे। यदि आप चाहे तो कोई और भी डिजाइन बना सकते है।

7.अब सारे पेड़े बनकर तैयार है और इन्हे एक प्लेट में रख देंगे और इन सारे पेड़ो के ऊपर सिल्वर वर्क (Silver Work) और पिस्ता डाल देंगे।

8.अब आपके Milk Peda ( Milk Peda Recipe in Hindi ) तैयार है। 

सुझाव और विविधता:

»दोस्तो ध्यान रहे मिक्चर को पैन में चिपकने से बचाने के लिए आप एक नॉन स्टिक पैन का उपयोग करे ताकि उसमे मिक्चर चिपके नही।

»मिक्चर पकाने के बाद इसे चेक करे यह अच्छे से सेट होगा या नहीं। मिक्चर को चेक करने के लिए एक कटोरी में 1 चम्मच मिक्सर ले और उसे 30 से 40 सेकेंड बाद उसे अपने हाथो से चेक करें की वो अच्छे से बॉल जैसा बनता है कि नहीं। यदि नही बनता है तो उसे 2 से 3 मिनट और चलाते हुए पका लेंगे।

»ध्यान रहे मिक्सर को मिक्स करते समय उसमें लम्स नहीं आने चाहिए।

»इस रेसिपी में बादाम और केसर का उपयोग नहीं किया गया है यदि आप चाहे तो अपनी इच्छानुसार स्टेप 7 में बादाम और केसर का उपयोग कर सकते है। जिससे पेड़े का स्वाद थोड़ा बढ़ जाता हैं।

पोषक तत्व (Nutrition of milk Peda):

देखा जाए तो दूध में अत्यधिक पौष्टिक संरचना पाई जाती है इसलिए इसे संपूर्ण भोजन माना जाता हैं। क्योंकि इसमें लगभग सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर को जरूरत होती हैं। इसलिए यह हमारे शरीर के लिए बेहद फायदेमंद साबित होता है। इस लेख में दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व भी बताएंगे तो चलिए जानते हैं मिल्क (Milk Peda Recipe in Hindi) में पाए जाने वाले पोषक तत्व:

गाय के 250 ML दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व:

250 ग्राम दूध के पोषक तत्व                                        
कार्बोहाईड्रेट = 12g.
शुगर = 12g.
वसा = 8g.
जल = 88%
कैलोरी = 152
प्रोटीन = 8.14g.
फैट = 4%
कैल्शियम = 274.5mg.
फास्फोरस = 249.7mg.
पोटेशियम = 321mg.
कोलीन = 40mg.

निष्कर्ष ( Cunclusion ):

इस लेख में (Milk Peda Recipe in Hindi - हलवाई जैसा मिल्क पेड़ा बनाने की विधि) पेडा से संबधित बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारियां दी हैं। पेड़ा भारत की सबसे प्राचीन मिठाइयों में से एक है जिसे भारत में हर तरह के त्योहार व उत्सव में खास तौर पर बनाया जाता है। भारतीय संस्कृत में उपवास वा व्रत के समय इसका ज्यादातर उपयोग किया जाता है। इस लेख में पेड़ा से संबधित FAQ, मिल्क पेड़ा की रेसीपी (Milk Peda Recipe in Hindi) स्वादिष्ट बने इसलिए मुख्य सलाह दी है और इस लेख में मिल्क पेड़ा की रेसीपी का हर स्टेप विस्तार रूप से बताया है जिससे आप आसानी से अपने घर पर हलवाई जैसा मिल्क पेड़ा बना पाएंगे।

मुझे पूरी आशा है कि आपको यह रेसिपी जरूर पसंद आई होगी यदि आपको यह रेसिपी पसंद आए तो इसे आप अपने दोस्तों वा रिश्तेदारों के पास शेयर करना ना भूलें यदि आप और भी ऐसी ही रेसिपी के बारे में जानना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए Comment बॉक्स में कमेंट जरूर करें।

बहुत बहुत धन्यवाद.....।

FAQ (Frequently Asked Questions):

Quest.1 दूध पेड़ा कितने समय तक चलता है?

Ans.दूध के पेड़े कमरे के तापमान पर लगभग दो दिन तक सही रहेंगे। लेकिन यदि आप उन्हें फ्रिज में रखेंगे तो वो लगभग एक या दो सप्ताह तक सही रहेंगे।

Quest.2 दूध का पेड़ा किस चीज से बनता है?

Ans.पेड़ा एक काफी सामान्य शब्द है इसे आमतौर पर इन्हें दूध पाउडर या सूखे दूध के (खोया या मावा), चीनी और दूध या किसी भी पसंदीदा स्वाद देने वाले मसाले के सयोजन से बनाया जाता हैं।

Quest.3 दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व क्या है?

Ans.दूध में प्रोटीन, राइबोफ्लेविन और कैल्शियम पाया जाता है। इनके अतिरिक्त इसमें विटामिन A, D, K और E पाए जाते हैं और इसमें फॉस्फोरस मैग्नीशियम आयोडीन और वसा वा खनिज तत्व और ऊर्जा भी पाई जाती है। इसमें कई एंजाइम मोबाइल जीवित कोशिकाएं भी पाई जा सकती हैं।

Quest.4 दूध में किसकी कमी होती है?

Ans.गाय के दूध में लिनोलिक अम्ल और विटामिन E कम मात्रा में पाया जाता है और इसमें अत्यधिक मात्रा में सोडियम वा पोटेशियम पाया जाता है और इसमें अत्यधिक मात्रा में प्रोटीन भी पाई जाती है।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने